Motherboard क्या है – Motherboard का चयन कैसे करें, प्रकार, कार्य और पार्ट्स | motherboard in hindi

5/5 - (1 vote)

हेल्लो दोस्तों इस आर्टिकल में आप Motherboard के बारे में जानेगे । Motherboard क्या है?, मदरबोर्ड के प्रकार और मदरबोर्ड के कार्य कौन से हैं आदि के बारे में जानेगे। साथ ही मदरबोर्ड के मुख्य घटक के बारे में भी जानेंगे। मदरबोर्ड कंप्यूटर सिस्टम के हर पार्ट को एक साथ जोड़े रखती है इसीलिए तो इसे मदरबोर्ड बोलते हैं। 

जितने भी कंप्यूटर पार्ट्स होते हैं सबका काम अलग होता है लेकिन ये तभी काम करते हैं जब मदरबोर्ड से जुड़े हो। इससे कनेक्टेड ना हो तो फिर वो फंक्शन नही कर सकते।जिस तरह हर पार्ट का मदरबोर्ड से जुड़ा होना ज़रूरी होता है ठीक उसी तरह कुछ पार्ट्स के बिना भी ये खुद काम नही कर सकता। मदर बोर्ड के बारे में विस्तार से जानने के लिए इस आर्टिकल को पूरा पढ़ें … 

Motherboard क्या है?
Motherboard क्या है?

 

विषय सूची

Motherboard क्या है? (what is motherboard in hindi) –

एक मदरबोर्ड किसी भी कंप्यूटर की मुख्य Printed Circuit Board (PCB) होती है। इसे को अलग अलग नाम से भी जाना जाता है जैसे Base board, Main circuit board etc. Motherboard किसी भी कंप्यूटर का Backbone होता है, ये एक ऐसा लिंक होता है जिससे की सारे Components एक दुसरे से जुड़ से जाते हैं, मनो ये एक Hub का काम कर रहा हो जिस्स्से कंप्यूटर के दुसरे device आपस में कनेक्ट होते है ये किसी User के जरुरत के अनुसार अलग अलग Formation में आते हैं जिससे की उसके जरुरत, budget और speeds में fit बैठ सकें

मुख्य रूप से देखें तो ये एक Printed Circuit Board ही है जो की कंप्यूटर के विविन्न components को hold करता है जिससे की computer कार्यक्षम हो सके. Components जैसे CPU, RAM, Hard Disk के साथ साथ TV Card, Graphics etc

सब को पहले Mother Board के साथ connect किया जाता है Motherboard ही ये function enable करता हैं की सभी को उचित Power Supply जाये ताकि वो ठीक ढंग से अपना काम कर सके

 

Motherboard के प्रकार (Types of Motherboard) –

मदरबोर्ड अपनी संरचना और उपयोग के आधार पर निम्न प्रकार के होते हैं –       

संरचना के आधार पर मदरबोर्ड के प्रकार – 

संरचना के आधार पर मदरबोर्ड को दो भागों में बाँट सकते हैं – 

Integrated Motherboards (स्वीकृत मदरबोर्ड ) –

जिस मदरबोर्ड में कंप्यूटर के विभिन्न उपकरणों को जोड़ने के लिए अलग-अलग पार्ट बनाई जाती हैं इसके माध्यम से कंप्यूटर के विभिन्न पार्ट्स को अपगेट भी कर सकते हैं । सभी नवीनतम डेस्कटॉप सरवर और लैपटॉप board  स्वीकृत  प्रकार के हैं।

Non Integrated Motherboards (गैर एकीकृत मदरबोर्ड) –

जिस मदरबोर्ड में कंप्यूटर के विभिन्न उपकरणों को जोड़ने के लिए अलग-अलग पार्ट नहीं होते हैं या जो मदरबोर्ड डिवाइस के कनेक्ट करने में असमर्थ होते हैं यह डिवाइस के सभी इनपुट आउटपुट पोर्ट  जैसे सीरियल और समानांतर पोर्ट कनेक्ट हार्डवेयर और फ्लॉपी डिस्क ड्राइव के लिए कनेक्ट जैसे अन्य नियंत्रण विस्तार बोर्ड  का उपयोग करने सिस्टम से जुड़े होते हैं।

उपयोग के आधार पर मदरबोर्ड के प्रकार – 

उपयोग के आधार पर मदरबोर्ड को 3 भागों में बांटा जा सकता है –

Desktop Motherboards (डेस्कटॉप मदरबोर्ड ) –

हम जिस कंप्यूटर का प्रयोग करते हैं उसमें डेस्कटॉप मदरबोर्ड का उपयोग होता है यह मदरबोर्ड सबसे साधारण मदरबोर्ड होता है यह मूवी देखने, गाने सुनने, गेम खेलने, चित्र बनाने, जैसे सभी कार्य कार्य हम इस मदरबोर्ड की सहायता से कर सकते हैं डेस्कटॉप कंप्यूटर में ऐसे    विभिनता हैं जो कंप्यूटर के नेटवर्क को   समंदयित करने में अनुमति देता है।

Server Motherboards (सर्वर मदरबोर्ड) –

सर्वर मदरबोर्ड में दो प्रोसेसर शामिल होते हैं जो गेम प्रदर्शन को बदलाव दे सकते हैं जब dx12 के साथ AMD के मेटल AMD ryzen  का भविष्य में उपयोग किया जाता है जो 8-core इंटेल सिस्टम प्रदर्शन की पेशकश कर सकता है जो वर्तमान 2 और 4 कोर प्रोसेसर के बराबर या उससे भी बेहतर है।

निर्माताओं के लिए सुपरमाइक्रो को  अत्यधिक  अनुशंसा की जाती है क्योंकि वह ऑपरेटिंग सिस्टम के साथ अधिक संगतता प्रदान करती है और अक्सर लिनसर  या विंडो 7 के संयोजक के साथ संगत होती है।उनमें से बहुत से विंडोज 10 के साथ अपग्रेड होने में सक्षम है लेकिन विभिन्न सीपीयू शॉर्टकट के साथ बहुत शोर सुपरमाइक्रो बोर्ड ओपन बंद है सीपीयू शॉर्टकट आपके द्वारा उपयोग किए  जा सकने  वाले प्रोसेसर के प्रकार पर निर्णय लेते हैं ।

Laptop Motherboards (लैपटॉप मदरबोर्ड )

लैपटॉप में प्रयोग किए जाने वाले मदरबोर्ड को लैपटॉप मदरबोर्ड कहा जाता है इस मदरबोर्ड को लैपटॉप के विभिन्न भागों से जोड़ा जाता है । और यह मदरबोर्ड काफी उन्नत सुविधाएं प्रदान करने में सहायक होते हैं ।

 

Motherboard का चयन कैसे करें (How to Choose Motherboard)

सही Motherboard का चुनाव बहुत जरुरी है इसीलिए मैंने कुछ महत्वपूर्ण चीज़ों को निचे mention किया है ताकि इससे आपको कुछ idea आ सके इसके सही चुनाव के लिए

1. Processors

एक बहुत ही महत्वपूर्ण feature Motherboard का है वो socket जो की CPU को पकड़ के रखता है विविन्न boards के लिए विविन्न socket connects चाहिए और सभी के Processor Pins समान नहीं हैं इसी socket से ही पता चलेगा की इस Motherboard में कोन सी मॉडल की Processor fit होगी

2. Memory

आप किस प्रकार का Motherboard इस्तमाल कर रहे हैं इससे मालूम पड़ता है की आप कितने amount और किस फॉर्मेट का RAM इस्तमाल कर सकते हैं Normally Boards का Memory कुछ लिमिटेड होता है की वो कितने amount ऑफ़ RAM को support करे. पर ये सबसे अच्छा होगा की अगर आप कोई ऐसा Board लें जो की आपके जरुरत से ज्यादा RAM को support करे जिससे की आप बाद में इसे upgrade कर सके

3. Form Factor

इसी Form Factor से पता चलता है की कहाँ विविन्न components को place किया जाये और इससे उन  कंप्यूटर का डिजाईन पता चलता है वैसे तो Form Factor के कई standard है पर user के requirement के अनुसार ही इसे इस्तमाल किया जाता है

4. Chipset –

एक Chipset किसी भी कंप्यूटर का middle man होता है, जिसके मदद से कंप्यूटर के अन्दर डाटा का transfer होता है एक part से दुसरे part से. ये एक Spine के तरह होता है जो Microprocessor को कंप्यूटर के दुसरे parts से जोड़ता है एक कंप्यूटर में इसके दो भाग होते हैं एक है Northbridge और दूसरा. Computer के सारे parts CPU के साथ इसी Chipset की मदद से communicate करते हैं

5. BUS –

एक Bus का computer में मतलब होता है एक रास्ता जिससे किसी भी circuit में एक component दुसरे के साथ जुड़ता है. किसी भी BUS का speed को megahertz (MHz) में मापा जाता है. Speed से ही मालूम पड़ता है की कितनी डाटा उस bus से गुजर सकती है जितनी बेहतर Bus होगी उतनी ही जल्दी और ज्यादा data को transfer किया जा सकता है

 

Motherboard के कार्य (Functions of Motherboard) –

मदरबोर्ड के कुछ प्रमुख कार्य –

Central Backbone – अक्सर मदरबोर्ड को कंप्यूटर की रीढ़ की हड्डी कहा जाता है. वो इसलिए क्युकी computer के दूसरे आवश्यक घटक (essential components) जैसे- रैम, हार्ड डिस्क, सीपीयू इत्यादि सभी को motherboard में इनस्टॉल किया जाता है. अर्थात मदरबोर्ड सभी कंप्यूटर हार्डवेयर के लिए जमीन का काम करती है. 

External Peripherals के लिए Slots प्रदान करना – बाहरी उपकरणों को कंप्यूटर से जोड़ने के लिए motherboard में कई expansion slots लगे होते है. इन स्लॉट्स की मदद से आप कंप्यूटर में extra expansion card (नेटवर्क कार्ड, साउंड कार्ड, फायरवायर कार्ड, ईथरनेट कार्ड, लेन कार्ड इत्यादि) जोड़ सकते है. 

Computer में Power Supply का काम – कंप्यूटर के विभिन्न घटको के लिए बिजली आपूर्ति का काम भी मदरबोर्ड का होता है. सबसे पहले power connector की मदद से बिजली motherboard तक पहुँचती है, उसके बाद मदरबोर्ड से जुड़े various components को power supply की जाती है.

Data Flow को नियंत्रित करना – मदरबोर्ड इससे जुड़े सभी components के लिए संचार केंद्र (communication hub) के रूप में कार्य करता है. यह computer system के भीतर सूचना यातायात के प्रबंधन के लिए जिम्मेदार है. आसान भाषा में सभी उपकरण motherboard की मदद से आपस में data को receive और send कर पाते है.

BIOS – ये BIOS Program को भी hold करता है, जो मदरबोर्ड पर ROM Chip में स्थित होता है। ये प्रोग्राम कंप्यूटर सिस्टम की boot process के लिए आवश्यक है.

 

Motherboard का इतिहास (History of Motherboard) –

दुनिया में सबसे पहला मदरबोर्ड 1981 में IBM द्वारा किया गया था जिससे उन्होंने “Planar” नाम दिया. फिर उसके बाद अगस्त 1984 में IBM ने AT और FULL AT नामक मदरबोर्ड को बाज़ार में निकला. और IBM उसके बाद भी कई सारे मदरबोर्ड निकाले और IBM के साथ साथ दूसरी कंपन्या भी अपने अपने मदरबोर्ड को बाज़ार में निकाल ने लगी.

पहले के कंप्यूटर आज के कंप्यूटर की तरह स्मार्ट  नहीं हुआ करते थे और न ही उनके Motherboard. पिछले समय के कंप्यूटर को किसी भी बाहरी उपकरण को अपने साथ जोड़ने के लिए तारो(Wires) का इस्तेमाल करना पड़ता था. लेकिन धीरे धीरे समय के साथ Motherboard के निर्माताओ ने उसमे सुधार करा और 1990 में वह Motherboard बाज़ार में आया जिसने हर जगह तेहलका मचा दिया. यह समय ऐसा था जब पहली बार मदरबोर्ड ऑडियो, विडियो, आदी चीजो को सपोर्ट कर पा रहा था और उसी समय के बाद से इसको हर जगह इस्तेमाल में लाने लगे.

 

Motherboard कौन-कौन सी कंपनिया बनाती है? –

Motherboard बहुत से कंपनीयों द्वारा बनाया जाता है जिसमें से कुछ महत्व्पुर्ण  कंपनीयों के नाम निम्नलिखित है-

  •         Asus
  •         Intel
  •         AMD
  •         Gigabyte Technology
  •         Evga Corporation
  •         Acer
  •         MSI (Micro Star International)
  •         AOpen
  •         Biostar
  •         ABIT
  •         ASRock

 

Motherboard के मुख्य घटक/पार्ट्स (Parts of Motherboard ) –

कंप्यूटर मदरबोर्ड भी अलग अलग पार्ट्स से बने होते हैं जिसकी जानकारी होने से आप खुद भी कंप्यूटर से जुड़े छोटे मोटे काम खुद ही कर सकते हैं. तो चलिए जान लेते हैं की आख़िर इस के कितने पार्ट्स होते है

Power Connectors –

सेंट्रल प्रोसेसिंग यूनिट और दूसरे components को electricity सप्लाइ करने के लिए इसमे एक पावर कनेक्टर लगा हुआ होता है

CPU Socket –

आप जानते होंगे की कंप्यूटर मे एक प्रोसेसोर होता है जिसकी capacity के अनुसार कंप्यूटर चलने की स्पीड होती है. CPU सॉकेट ही प्रोसेसर को मदरबोर्ड मे इनस्टॉल करने के लिए मदद करता है. इसका मतलब आप समझ ही गये होंगे की CPU मदरबोर्ड से जुड़ने के लिए सॉकेट से जुड़ता है. मदरबोर्ड के bottom मे सॉकेट पर बहुत सारी pins होती हैं जो कनेक्टर के रूप मे काम करती हैं.

ये प्रोसेसर को electricity सप्लाइ करती है. इसके अलावा ये डाटा को कंप्यूटर के दूसरे components को ट्रान्स्फर करती है. अगर आप कभी प्रोसेसर अपडेट करना चाहते हैं तो इस सॉकेट मे नही कर सकते हैं. इसके लिए आपको अलग अलग सॉकेट types की भी जानकारी होनी ज़रूरी है. Pentium (P1, P2, MMX), AMD K5/K6 Socket 370 : Pentium 3 processor,Intel Celeron Processor Socket 7775:Intel Dual Core, P4, Xeon Processor Socket 1156 : Intel i3, i5, i7 Processor Socket 3366 : i7 900 Processor

Input/Output ports –

आम तोर पर इनपुट और आउटपुट पोर्ट कंप्यूटर के chassis के पीछे साइड मे होते हैं. इनपुट आउटपुट पोर्ट्स ख़ास रूप से मॉनिटर, प्रिंटर, कीबोर्ड, स्पीकर, माइक्रोफोन, इंटरनेट/ नेटवर्किंग केबल और कई USB Components को जोड़ने के लिए दिया होता है.

BIOS –

BIOS का फुल फॉर्म होता है “”Basic Input output System” (बेसिक इनपुट आउटपुट सिस्टम), ये भी मदरबोर्ड मे लगने वाला एक कॉंपोनेंट है जो इंटेग्रेटेड चिप के रूप मे होता है. इसकी जितनी भी इन्फर्मेशन और सेट्टिंग होती उन सभी को BIOS में स्टोर कर के रखता है. आप BIOS Mode मे जाकर सेट्टिंग को चेंज कर सकते हैं.

CMOS Battery –

CMOS का फुल फॉर्म ” Complementary Metal Oxide Semiconductor” होता है. ये एक बैटरी होता है जो 3.0 वोल्ट्स का lithium cell होता है.

RAM (Memory) Slots –

किसी भी मदरबोर्ड मे RAM इनस्टॉल करने के लिए एक से ज़्यादा स्लॉट हो सकते हैं. ये स्लॉट CPU स्लॉट के नज़दीक ही होता है.एक तरह से RAM  मदरबोर्ड का सबसे इंपॉर्टेंट पार्ट होता है जिसे हम रRandom access memory के नाम से भी जानते हैं. इसे volatile  मेमोरी भी बोलते हैं ये एक तरह से temporary मेमोरी भी होती है. ये application को run करने मे हेल्प करते हैं. अगर कोई प्रोसेसर फास्ट है और उसकी RAM बहुत high capacity की है तो application बहुत smoothly   से चलेगा.

IDE Connector –

इंटेग्रेटेड ड्राइव एलेक्ट्रॉनिक्स जिसे हम शॉर्ट मे IDE के नाम से भी जानते हैं इसका इस्तेमाल हम हार्ड डिस्क ड्राइव को मदरबोर्ड से कनेक्ट करने के लिए करते हैं.

SATA Connector –

SATA का फुल फॉर्म Serial Advanced Technology Attachment होता है. ये नये तरह के कनेक्टर्स होते हैं जिन मे 7 पिन इंटरफेस होते हैं. इसका इस्तेमाल SATA हार्ड डिस्क और ऑप्टिकल डिस्क को कनेक्ट करने के लिए करते हैं. ये IDE  कनेक्टर की तुलना मे फास्टर और बेटर होते हैं.

Expansion Card Slots –

जब कभी आप को मदरबोर्ड से नया कॉंपोनेंट जोड़ना होता है या फिर किसी पार्ट को अपडेट करना होता है तो Expansion card स्लॉट्स का इस्तेमक किया जाता है. Expansion स्लॉट एक्सटर्नल कार्ड को जोड़ने मे मदद करती है.

Storage Device Connectors –

वैसे तो कंप्यूटर मे हम हार्ड डिस्क ड्राइव, ऑप्टिकल ड्राइव और फ्लॉपी डिस्क ड्राइव का इस्तेमाल करते ही हैं लेकिन इसके साथ कुछ दूसरे एक्सटर्नल स्टोरेज डिवाइस का भी इस्तेमाल करते हैं जिससे की हम डाटा को स्टोर कर सके और फिर बाद मे या फिर दूसरे कंप्यूटर मे उस डाटा का इस्तेमाल कर सके. इसके लिए हमे इस एक्सटर्नल स्टोरेज डिवाइस को भी मदरबोर्ड से कनेक्ट करना ज़रूरी होता है. हर मदरबोर्ड मे कम से कम 2 स्टोरेज डिवाइस कनेक्टर्स अवेलबल होते हैं.

Co-Processor –

मदरबोर्ड के सबसे इंपॉर्टेंट कॉंपोनेंट्स मे से एक है Co-Processor. ये एक तरह से main प्रोसेसर का हेलपर होता है जो mathematical calculation और कंप्यूटर ग्रॅफिक्स के टास्क को perform करता है.

USB Port –

हर मदरबोर्ड मे USB पोर्ट होता है जिससे की हम एक्सटर्नल और स्टोरेज डिवाइसस जैसे Pendrive, प्रिंटर कनेक्ट करने के लिए करते हैं.

PS/2 Connector –

कीबोर्ड और माउस कनेक्ट करने के लिए इस पोर्ट का इस्तेमाल किया जाता है.

Game Port –

सभी तरह के गेमिंग डिवाइसस को कनेक्ट करने के लिए हम गेम पोर्ट का इस्तेमाल करते हैं.

Parallel or LPT port –

Scanner और प्रिंटर कनेक्ट करने के लिए parallel port का इस्तेमाल होता है.

Sound Card Connectors –

ऑडियो डिवाइस जैसे स्पीकर और माइक्रोफोन कनेक्ट करने के लिए ये पोर्ट काफ़ी इंपॉर्टेंट है.

Display Connector –

इसी की मदद से हम कंप्यूटर के मॉनिटर को मदरबोर्ड से कनेक्ट करते हैं.

COM (Communication) port –

इस पोर्ट का इस्तेमाल हम माउस और मॉडेम जैसे डिवाइसस को कनेक्ट करने के लिए करते हैं.

 

 

निष्कर्ष (Conclusion) –

आज Motherboard का उपयोग सभी Computer, Laptop, Smartphone, Tablet के अलावा Server और Robots में भी किया जाता है। इसके अलावा भी इलेक्ट्रॉनिक उपकरण में PCB का इस्तेमाल किया जाता है। इसका सबसे बड़ा फायदा यह हो जाता है कि उपकरण के सभी Parts एक जगह उपस्थित हो जाते हैं।

इस आर्टिकल में हमने Motherboard क्या है? के बारे में बताया है।  हम उम्मीद करते हैं कि Motherboard की यह जानकारी आपको पसंद आई होगी और कुछ नया जानने और सीखने को मिला होगा।  

 

FAQ – Motherboard in Hindi 

Q.1 कंप्यूटर मदरबोर्ड क्या है?

Ans. मदरबोर्ड कंप्यूटर सिस्टम का सबसे महत्वपूर्ण पार्ट होता है जो असल में यह एक इलेक्ट्रॉनिक सर्किट बोर्ड होता है जिससे कंप्यूटर सिस्टम के अन्य छोटे मोटे सभी कम्पोनेंट्स जुड़े होते है।

Q.2 मदरबोर्ड का जनक कौन है?

Ans. मदरबोर्ड का जनक IBM के इंजीनियर पैटी मैकहग को कहा जाता है।

Q.3 कंप्यूटर मदरबोर्ड का क्या काम होता है?

Ans. कंप्यूटर मदरबोर्ड के द्वारा कंप्यूटर के सभी उपकरण आपस में जुड़े रहते हैं तथा मदरबोर्ड कंप्यूटर उपकरणों को सुचारू रूप से काम करने के लिए Power भी Supply करता है।

Q.4 मदरबोर्ड कितने प्रकार के होते हैं?

Ans. मदरबोर्ड बनावट के आधार पर मुख्य रूप से 2 प्रकार के होते हैं – Integrated Motherboard और Non Integrated Motherboard.

Q.5 मदरबोर्ड का दूसरा नाम क्या है?

Ans. Motherboard को विभिन्न नामों से जाना जाता है, जैसे – Printed Circuit Board (PCB), Logical Board, System Board, Printed Wired Board (PWB), Main Circuit Board और Base Board आदि।

Q.6 कंप्यूटर का मुख्य सर्किट बोर्ड क्या कहलाता है?

Ans. कंप्यूटर का मुख्य सर्किट बोर्ड Motherboard कहलाता है।

Q.7 मदरबोर्ड में क्या लगा होता है?

Ans. Motherboard में कई Parts या device लगे होते है, जिनमे से कुछ Parts के नाम निम्नलिखित है –
CPU
RAM
ROM
CPU Fan
CMOS Battery
Capacitor
Inductor
Input/Output Connector
USB Port
Serial Port
Parallel Port
Lan Port
Jumper
Power Connector

About Team Rivn Tech

दोस्तों हम Rivn Tech Editor Team है , हमारा हर प्रयास यही रहेगा कि आपको Computer, Mobile, Latest Technology and Tips & Tricks के बारे में नवीनतम जानकारी प्रदान की जाए और नए-नए तरीकों के बारे में आपको बताया जाएगा, आपकी समस्याओं का समाधान किया जाएगा

2 thoughts on “Motherboard क्या है – Motherboard का चयन कैसे करें, प्रकार, कार्य और पार्ट्स | motherboard in hindi”

Leave a Comment