Internet क्या है? – कैसे काम करता है, इतिहास, प्रकार और परिभाषा | Top 5 Best Internet Services

4.6/5 - (14 votes)

आज के समय में इंटरनेट का बहुत ही ज्यादा इस्तेमाल हो रहा है। इंटरनेट हमारे जीवन का एक महत्वपूर्ण हिस्सा बन चुका है और इंटरनेट मानवीय खोज जो अब तक की सबसे बड़ी खोज में से एक है जिसने पूरी दुनिया को आपस में जोड़ा है।

Internet
Internet

 

आधुनिक समय में इंटरनेट का इस्तेमाल इतना अधिक किया जा रहा है लेकिन फिर भी बहुत सारे लोगों को पता नहीं होता है कि आखिर ये इंटरनेट क्या है  वे Google पर इंटरनेट से संबंधित तमाम प्रकार के प्रश्नों के जवाब ढूंढते रहते हैं, आपके सवालों का संतोष पूर्ण जवाब देने के लिए हमने इसे आर्टिकल को लिखा है इससे आर्टिकल में हमने कोशिश की है कि आपको इंटरनेट से संबंधित सारी जानकारी उपलब्ध कराई जाए जिससे कि आपके मन में इंटरनेट से संबंधित सारे Doubt Clear हो सकें। 

 

Internet क्या है?(What is internet) –

Internet का इस्तेमाल हम सभी दैनिक जीवन में करते है, और आज इंटरनेट और कंप्यूटर मानव जीवन का एक महत्वपूर्ण हिस्सा बन गए है। इंटरनेट मानवीय सभ्यता की सबसे बड़ी खोज में से एक है जिसने पूरी दुनिया को आपस में जोड़ रखा है। इंटरनेट दो शब्दों से मिलकर बना है Inter और Network. जिसमें Inter का मतलब होता है – एक दूसरे से जुड़ा हुआ और Network का मतलब होता है – जाल. इंटरनेट एक ऐसा जाल है जिसके द्वारा दुनियाभर के कंप्यूटर को आपस में जोड़ा जाता है। यह कंप्यूटरवर्ल्ड और वायरलेस तरीके से आपस में जुड़े रहते हैं और डाटा का आदान प्रदान करते हैं।

सामान्य शब्दों में गए तो इंटरनेट एक ग्लोबल नेटवर्क है जिसके द्वारा दुनिया भर के कंप्यूटर और अन्य इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस आपस में जुड़े रहते हैं और आसानी से डाटा ट्रांसफर करते हैं। इंटरनेट दुनिया का सबसे बड़ा नेटवर्क है। इंटरनेट पर डिवाइस एक दूसरे से तांबे के तारों, फाइबर ऑप्टिकल केबल या वायरलेस कनेक्शन के द्वारा आपस में जुड़े रहते हैं। इंटरनेट सूचना तकनीकी की सबसे आधुनिक प्रणाली है। हिंदी में बात करें तो इंटरनेट का मतलब अंतरजाल होता है कोमा कई लोग इसे शार्ट में नेट भी कहते हैं।

 

Internet की परिभाषा (Definition of Internet) –

इंटरनेट एक वाइड एरिया नेटवर्क(WAN) है जिसके द्वारा दुनियाभर के कंप्यूटर और इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस एक दूसरे से आपस में जुड़ कर Data का आदान-प्रदान करते हैं। 

 

Internet कैसे काम करता है (How Does the Internet Reduce) – 

आप Browser के एड्रेस बारे में किसी Website का Address Type करते हैं या किसी Hyperlink पर Click करते हैं।आपका Browser URL से यह पता करता है कि कौन सा Protocol Use हो रहा है यदि URL के शुरुआत में http:// लगा हो तो HTTP Protocol का उपयोग होगा वही ftp:// हो तो FTP Protocol का Use किया जाएगा।

Browser आपके ISP Server (Internet Service Provider) को Request Send करता है। ISP के पास DNS का Database होता है जिसमे Domain Name और उसके IP Address की  जानकारी होती है IP मिलने के बाद Website के Server का Address पता चल जाता है और Web Page के लिए उस Server को Request Send क्र दिया जाता है। Server आपके ISP को वह Page Send कर देता है।

 

Internet के प्रकार (Types of Internet) :-

इंटरनेट एक सामान्य नेटवर्क है जिसका इस्तेमाल कोई भी कर सकता है। लेकिन इंटरनेट भी दो प्रकार के होते हैं तो चलिए इंटरनेट के प्रकारों के बारे में जानते हैं –

  • Intranet (इंट्रानेट)
  • Extranet (एक्सट्रानेट)

Intranet क्या है –

Internet भी एक प्रकार का Internet Network है। लेकिन यह Network Private होता है। Internet का इस्तेमाल अधिकतर Company अपने Computer को सुरक्षित तरीके से Connect करने के लिए करती है। बिना Username और Password के इसे इस्तेमाल नहीं किया जा सकता है। Internet भी एक प्रकार का Network है जिसका इस्तेमाल कोई बाहरी व्यक्ति नहीं कर सकता है। सुरक्षित तरीके से Data Transfer करने के लिए Internet का इस्तेमाल किया जाता है।

Extranet क्या है –

Extranet भी एक प्रकार का Private Network होता है जो की Public Internet की मदद से एक Branch से दुसरे Branch से Connect रहता है। Extranet का इस्तेमाल करने के लिए भी User को Username और Password की जरूरत होती है। पब्लिक Internet से Intranet में जाने की प्रक्रिया Extranet कहलाती है।

 

Internet की खोज किसने की थी (Who discovered the Internet) –

इंटरनेट की खोज कर पाना किसी एक व्यक्ति के लिए संभव नहीं था। हजारों वैज्ञानिक और इंजीनियर ने मिलकर इस विशाल नेटवर्क की स्थापना की थी। 1967 मैं शीतयुद्ध के दौरान ARPANET (Advance Research Project Agency Network) नाम से इंटरनेट की शुरुआत हुई। जिसमें कि अमेरिका के चार University के कंप्यूटरों को आपस में जोड़ा गया था। 

अगर आप इंटरनेट किस लिए आविष्कार के बारे में जानना चाहते हैं तो यह Bob Kahn और Vint Cerf है जिन्होंने के उन Framework का आविष्कार किया जिनका इस्तेमाल आज भी किया जा रहा है। उन्होंने Internet के लिए नियम निर्धारित किए और उन्हें TCP (ट्रांसमिशन कंट्रोल प्रोटोकोल) का नाम दिया गया। बाद में उन्होंने एक प्रोटोकॉल को जोड़ा जिसे IP (इंटरनेट प्रोटोकोल)  कहते हैं। 

 

Internet का इतिहास (History of Internet) – 

  • सबसे पहले इंटरनेट की शुरुआत अमेरिका सेना द्वारा पेंटागन  America के रक्षा विभाग में की गई थी। साल 1969 में ARPANET मतलब (Advance Research Project Agency) नाम का Networking Project Launch किया गया था।
  • जिसका इस्तेमाल युद्ध के समय बिना किसी मुश्किलों के गोपनीय सूचना भेजने और संचार व्यवस्था को सुरक्षित रखने के लिए किया गया था। वहीं थोड़े समय बाद इससे मिलने वाले लाभों को शोधकर्ता, वैज्ञानिक, मिलिट्री के लोगों और कॉन्ट्रैक्टर्स इसका इस्तेमाल करने लगे। 
  • सबसे पहले  “Vinton Gray Cerf” और “Bob Kahn” नाम के दो शख्स के द्वारा साल 1970 में Internet की  शुरुआत की गई थी। इसलिए इन्हें इन्टरनेट का जनक भी कहा जाता है। 
  • रेटॉमलिंसन ने साल 1972 में पहला email भेजा। 
  • ब्रिटिश डाकघर में पहली बार Internet का इस्तेमाल साल 1979 में नई प्रोधोगोकी के रूप में किया गया। इसके बाद ही कंप्यूटर तकनीक में तेजी से विकास हुआ। 
  • National Science फाउंडेशन मैं कुछ हाई स्पीड कंप्यूटरों को जोड़कर है साल 1980 में एक Network (NSFNET) तैयार किया, जिसने बाद में Internet की नींव रखी। वही इसी साल बिल गेट्स की Company माइक्रोसॉफ्ट ने भी अपना Operating System  IBM के नेटवर्क पर लगाने का सौदा तय किया। 
  • साल 1984 मैं इस नेटवर्क से 1000 से ज्यादा निजी कंप्यूटर जुड़ गए, इसके बाद धीरे-धीरे इसका तेजी से विकास हुआ और आज इसने दुनिया के सबसे बड़े नेटवर्क का रूप धारण कर लिया है।
  • आम जनता के लिए साल 1989 मैं Internet खोल दिया गया, जिससे इस्तेमाल बड़े स्तर पर लोगों द्वारा कम्युनिकेशन और रिसर्च के लिए किया जाने लगा।
  • वर्ल्ड वाइड वेब (WWW) की खोज में Internet को साल 1990 में एक नई दिशा दी गई। इसके बाद में और अधिक तेजी से विकास होता चला गया।
  • शिक्षा एवं रिसर्च से संबंधित सूचनाओं के आदान-प्रदान के लिए हाई स्पीड Network को विकसित करने के मकसद से साल 1991 में National Research and Education Network (NREN) की स्थापना की गई।
  • इसके बाद साल 1993 में पहले Graphic Web Browser और Mosaic Software की खोज ने Internet के विकास को गति प्रदान की। 

 

भारत में इन्टरनेट की शुरुआत कब हुई (When did Internet Start in India) :-

भारत में विदेशी संचार निगम लिमिटेड द्वारा टेलीफोन लाइन के जरिए भारत में सबसे पहले इंटरनेट का इस्तेमाल है 15 अगस्त 1995 में किया गया था। शुरुआत में देश में करीब 20 -30 कंप्यूटर इंटरनेट से जुड़ सके थे। उस वक्त सिर्फ एक जरूरी सूचनाओं के आदान-प्रदान के लिए इसका इस्तेमाल किया जाता था और सिर्फ कुछ बड़े बड़े संस्थानों और कॉलेजों को Internet से जोड़ा गया था। वही शुरुआत में इसकी Speed भी बेहद कम थी। इसके बाद जैसे-जैसे इंटरनेट का भारत में विस्तार होता गया वैसे वैसे इंटरनेट की Speed भी बहुत बढ़ती गई। 

90 के दशक में भारत में Internet का तेजी से विकास हुआ और इसकी पहुंच देश के कोने-कोने में हो गई। वही आज इंटरनेट का इस्तेमाल लोग सूचनाओं के आदान-प्रदान, शोध और शिक्षा के लिए ही नहीं करते हैं बल्कि इंटरनेट के माध्यम से आज लोग लाखों-करोड़ों रुपए घर बैठे ही कमा रहे हैं। 

 

Internet की सेवाओं का परिचय (Introduction to Internet Services) :-

इंटरनेट के अनेक सेवाएं हैं जिनमें से कुछ सेवाओं का जिक्र हमने नीचे किया है –

फाइल ट्रांसफर प्रोटोकोल (FTP) – FTP का इस्तेमाल एक कंप्यूटर नेटवर्क से दूसरे कंप्यूटर नेटवर्क में फाइल ट्रांसफर करने के लिए किया जाता है। 

आर्ची (Archie) – FTP मैं स्टोर फाइल को खोजने के लिए आर्ची का इस्तेमाल किया जाता है।

इलेक्ट्रोनिक मेल (e-mail) – ईमेल के माध्यम से सूचनाओं या संदेशों को भेजा या प्राप्त किया जाता है।

वर्ल्ड वाइड वेब (www) – www के द्वारा यूज़र अपनी सेवाओं या संस्था से संबंधित सूचना को पूरी दुनिया में कहीं भी रह सकता है। 

यूजनेट – यूजनेट के द्वारा यूज़र अलग-अलग समोसे अपने लिए जरूरी सूचनाएं एकत्र कर सकता है।

टेलनेट –  टेलनेट के द्वारा अपने डेटा का हस्तांतरण कर सकता है। इसका इस्तेमाल करने के लिए Username और Password की जरूरत होती है।

 

 

निष्कर्ष (Conclusion) – 

इसलिए को पूरा पढ़ नहीं है पर आप लोग इंटरनेट के बारे में अच्छी तरह से समझ गए होंगे। अगर आप इंटरनेट का सही तरीके से इस्तेमाल करते हैं तो यह आपके भविष्य को बना सकता है नहीं तो आपके लिए इंटरनेट केवल समय की बर्बादी है। इस लेख मे इतनी उम्मीद करते हैं आपको हमारे द्वारा लिखा गया यह आर्टिकल Internet kya hai जरूर पसंद आया होगा, इसलिए को सोशल मीडिया पर अपने दोस्तों के साथ भी जरूर शेयर करें धन्यवाद !

 

About Team Rivn Tech

दोस्तों हम Rivn Tech Editor Team है , हमारा हर प्रयास यही रहेगा कि आपको Computer, Mobile, Latest Technology and Tips & Tricks के बारे में नवीनतम जानकारी प्रदान की जाए और नए-नए तरीकों के बारे में आपको बताया जाएगा, आपकी समस्याओं का समाधान किया जाएगा

Leave a Comment