Email क्या है – Email में क्या-क्या भेज सकते है | What is Email in Hindi

Rate this post

हेल्लो दोस्तों इस आर्टिकल में आप Email के बारे में जानेंगे। Email क्या है?, Email ID बनाने के लिए क्या चाहिए, Email का Structure, Email ID कैसे बनाते है? और Email में क्या-क्या भेज सकते है आदि के बारे में जानेंगे। इसके साथ ही Email के फायदे और नुकसान के बारे में जानेंगे। आज के आधुनिक समय में Email दूरसंचार का एक बहुत बड़ा माध्यम बन चुका है।

एक समय था जब इसका बहुत ज्यादा उपयोग नहीं होता था परंतु आज के इंटरनेट की दुनिया में अगर आपके पास ईमेल आईडी नहीं है तो आपको कई  मुसीबतों का सामना करना पड़ सकता है।

Email क्या है
Email क्या है

इंटरनेट का उपयोग  करने वाले लगभग सभी लोग ईमेल के बारे में बेसिक जानकारी रखते हैं। ई-मेल का उपयोग ऑफिशियल वर्क में भी किया जाता है। बहुत से वेबसाइट में साइन अप करने के लिए ईमेल का इस्तेमाल किया जाता है । एक हिसाब से देखा जाए तो ईमेल एड्रेस हम सभी का virtual address होता है। 

 

Email क्या है (What is Email in Hindi) –

Email का पूरा नाम Electronic Mail होता है।  यह एक प्रकार का डिजिटल मैसेज होता है जिसे कि एक यूजर दूसरे यूजर के साथ communicate करने के लिए इस्तेमाल करता है। इस ईमेल में text, files, images या कोई attachments भी हो सकता है।

यह इंटरनेट आधारित संदेश पहुंचाने का एक माध्यम है जिसकी मदद से हम एक बार में हजारों-लाखों लोगों को तुरंत अपना संदेश पहुंचा सकते हैं। यह बहुत ही तेज गति से हमारे संदेश को भेजता है जिसके कारण इसका इस्तेमाल ज्यादा होता है। यह सेवा बिल्कुल मुफ्त में है सिर्फ इसे इंटरनेट चाहिए होता है।

हम साधारण पत्र लिखते समय उसमें प्राप्त करने वाले का नाम (receiver), पता (address), संदेश (message) और नीचे भेजने (sender) वाले का नाम लिखते है फिर उसे भेजने के लिए नजदीक के पोस्ट ऑफिस में जाकर उसे पोस्ट बॉक्स में डाल देते हैं और वह पत्र, पत्र प्राप्त करने वाले के पास कुछ दिनों में पहुंच जाता है।

बिल्कुल इसी तरह ही ईमेल में भी प्राप्त करने वाले का नाम (receiver), पता (address) और संदेश (body) को लिखना पड़ता है। ई-मेल में भेजने वाले का नाम अलग से नहीं लिखना पड़ता है, इसमें भेजने वाले का नाम ऑटोमेटिक संदेश प्राप्त करने वाले के पास चला जाता है। इसमें send पर क्लिक करना पड़ता है और ईमेल है कुछ ही सेकंड में प्राप्त करने वाले के पास पहुंच जाता है।

यह सुविधा अधिकतर ईमेल सर्विस प्रोवाइडर द्वारा मुफ्त में दी जाती है आपको सिर्फ इंटरनेट और एक इंटरनेट चलाने वाले डिवाइस जैसे कंप्यूटर, मोबाइल फोन, लैपटॉप आदि की आवश्यकता पड़ती है।

Mail इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस द्वारा किसी नेटवर्क (Internet) के जरिए संदेश भेजने-प्राप्त करने का एक साधन है। कार्यालयों, अदालतों, स्कूलों, कॉलेजों आदि जगहों पर ईमेल को सूचना भेजने तथा प्राप्त करने का अधिकारीक तरीका बना लिया गया है। 

 

Email ID बनाने के लिए क्या चाहिए –

ईमेल सर्विस मुक्त है और ईमेल भेजने तथा प्राप्त करने के लिए एक भी रुपया खर्च नहीं करना पड़ता है। किसी भी प्रकार का ईमेल बनाने के लिए आप को मुख्य रूप से निम्न चीजों की जरूरत होती है –

Computer/Smartphone –

सबसे पहले आपके पास कंप्यूटर या स्मार्टफोन होना चाहिए क्योंकि इन डिवाइस की मदद से ही आप इंटरनेट को एक्सेस कर पाएंगे।

Internet Connection –

ईमेल एक ऑनलाइन सर्विस है इसलिए इसे इस्तेमाल करने के लिए इंटरनेट की जरूरत पड़ती है। आपका डिवाइस किसी ना किसी नेटवर्क से कनेक्ट होना चाहिए। अगर आपके पास स्मार्टफोन है और उसमें डाटा पैक है तो उसी से आप ईमेल आईडी बना सकते हैं।

Email Provider –

अब बारी आती है ईमेल अकाउंट बनाने के लिए कंपनी अथवा सर्विस प्रोवाइडर का इस्तेमाल। एक ईमेल सर्विस प्रोवाइडर डाकघर कि तरह काम करता है। यह आपको ईमेल आईडी देता है, भेजे गए ईमेल को संभालता है और आए हुए ई-मेल को दिखाता है। कुछ लोकप्रिय वेब मेल सर्विस प्रोवाइडर निम्न है –

  • Gmail
  • Yahoo! Mail
  • Outlook
  • Zoho Mail
  • Rediffmail

Digital Literacy – 

इसके साथ ही आप में कुछ डिजिटल साक्षरता भी होनी चाहिए। आपको इन सभी टूल्स का सही तरह से इस्तेमाल करना आना चाहिए। कुछ बेसिक जानकारी जैसे कंप्यूटर के बारे में, इंटरनेट के काम करने के बारे में आदि का ज्ञान होना चाहिए। 

 

Email का Structure (Email Structure in Hindi) –

ई-मेल को बनाने के लिए कुछ rules होते है जिन्हें फॉलो करने पर ईमेल valid बनते है।

एक ईमेल में एक username होना जरूरी है उसके बाद @ (at sign) होना चाहिए उसके पश्चात domain name होता है।

Email Structure
Email Structure

ईमेल में username 64 characters से लंबा नहीं होना चाहिए और domain name 254 characters से लंबा नहीं होना चाहिए। ईमेल एड्रेस में एक @ sign होना चाहिए। ईमेल में स्पेशल स्पेशल करैक्टर (), :, ;, <>, \, [] को allow किया जाता है। 

 

Email ID कैसे बनाते है (How to Create Email ID in hindi) –

हम ईमेल बनाने के लिए ज्यादातर Gmail का उपयोग करते हैं इसलिए आज मैं आपको यह बताऊंगा कि Gmail में आईडी कैसे बनाते हैं।

  • सबसे पहले गूगल के सर्च बॉक्स में gmail-sign-up को सर्च करें।
  • अब आपके सामने एक पेज खुलेगा जिसमें आपको अपना First Name, Last Name, Username और Password सेट करने को कहा जाएगा इसलिए सारी जानकारी सही-सही भरने के बाद Next बटन पर click करें । 
  • अब एक नया पेज खुल कर आपके सामने आएगा इसमें आपका Mobile Number, Recovery Email ID, Date of Birth, Gender आदि जानकारी भरने के लिए कहा जाएगा। अब आपको सारी जानकारी अच्छी तरह से भरकर Next बटन पर click करना होगा।
  • Recovery Email ID में आप अपने किसी भी फ्रेंड, फैमिली मेंबर का ई-मेल जरूर दें। अगर आप कभी भी ई-मेल पासवर्ड भूल जाए तो Recovery Email ID से आप इसे फिर से इसे Recover कर सकते हैं।
  • अब अगले पेज में आपको अपना Mobile Number को OTP के जरिए verify करने को कहा जाएगा। अगर आप मोबाइल नंबर को verify करना चाहते हैं, तो OTP भेज सकते हैं और अगर नहीं करना चाहते हैं तो इसे skip कर सकते हैं।
  • अगले पेज पर सभी Terms and Conditions को Accept करते हुए आगे बढ़े। अब आपके सामने Welcome पेज आएगा जिस के दाएं तरफ से ऑप्शन बटन को क्लिक कर Gmail सिलेक्ट करें।

अब आपका Gmail ID बनकर तैयार हो गया है। 

 

Email में क्या-क्या भेज सकते है –

ईमेल का इस्तेमाल टेक्स्ट मैसेज भेजने के लिए किया जाता है लेकिन है आज के समय में हम ईमेल के साथ है कुछ फाइल को अटैच करके भी भेज सकते हैं। ईमेल के द्वारा Picture, PDF, Word Processor Document, Video, Program आदि को भेज सकते है।

कुछ प्रकार की फाइल को security issues होने के कारण नही भेज सकते है। आप .exe फाइल को ईमेल के द्वारा नहीं भेज सकते इसे भेजने के लिए पहले इसे .zip फाइल में कन्वर्ट करना होगा फिर उसे आप इसे भेज सकते हैं। ईमेल में फाइल को भेजने की एक capacity होती है। आप Gmail में 25 MB से ज्यादा बड़ी फाइल को नहीं भेज सकते हैं।

 

Email का इतिहास –

दुनिया का सबसे पहला Email Ray Tomlinson के द्वारा सन 1971 में सबसे पहली बार भेजा गया था इसलिए उन्हें ईमेल का जन्मदाता भी कहा जाता है। Ray Tomlinson एक कंप्यूटर प्रोग्रामर थे। 

15 अगस्त 1995 में पहली बार भारत में इंटरनेट की सुविधा शुरू हुई और इंटरनेट के साथ ही भारत में ई-मेल की शुरुआत हुई। 

 

Email के Server –

Incoming Mail Server-

  • POP3 – Post Office Protocol 3 
  • IMAP – Internet Message Access Protocol

Outgoing Mail Server-

  • SMTP – Simple Mail Transfer Protocol 

 

Alternate Email क्या है –

जब हम forms भरते हैं उस समय हमें Alternate Email का ऑप्शन जरूर दिखाई पड़ता है। Alternate Email का मतलब होता है main ईमेल के साथ-साथ अगर आपके पास कोई दूसरा ईमेल है तब आप उसे mention कर सकते हैं। जिस तरह से Alternate फोन नंबर होता है ठीक वैसे ही अल्टरनेट ईमेल एड्रेस भी होता है। 

 

Email के फायदे (Advantages of Email in Hindi) –

  • इसके माध्यम से आप एक बार में बहुत सारे लोगों को एक साथ संदेश भेज सकते है।
  • इसमें पेपर का इस्तेमाल नहीं होता है जिसे पेपर की बहुत बचत होती है।
  •  इसके माध्यम से आप डाक्यूमेंट्स तथा अन्य फाइल को भी शेयर कर सकते है।
  •  इसकी गति बहुत तेज होती है जिससे यह आपके मैसेज को कुछ ही सेकंड में भेज देता है।
  •  इसमें भेजे गए मेल का रिकॉर्ड रहता है जिससे आप जब चाहे देख सकते है।
  •  यह पूरी तरह से secure service है जिसमें किसी भी प्रकार की धोखाधड़ी होने की संभावना नहीं होती है।
  •  वीडियो कांफ्रेंस की सुविधा होने की वजह से आप अपने मीटिंग को किसी भी वक्त कहीं से भी ज्वाइन कर सकते है।

 

Email के नुकसान (Disadvantages of Email in Hindi) –

  • ईमेल भेजने या प्राप्त करने के लिए इंटरनेट कनेक्शन की जरूरत होती है।
  • ईमेल में हम ज्यादा बड़ी साइज की फाइल को नहीं भेज सकते हैं इसकी भी एक limit होती है।
  • ई-मेल में हम सभी प्रकार के फाइल फॉर्मेट को नहीं भेज सकते हैं। .exe फाइल फॉरमैट को ईमेल के द्वारा नहीं भेज सकते हैं।
  • ई-मेल का एक प्रकार है spam जिससे हमारे इनबॉक्स में इन स्पैम मेल्स के ज्यादा होने से हमें सही ईमेल को खोज पाना मुश्किल हो जाता है।

 

 

निष्कर्ष (Conclusion) –

इस लेख में हमने आपको Email के बारे में पूरी जानकारी दी है। हमें उम्मीद है कि यह लेख आपको पसंद आए आएगा और आपके लिए उपयोगी साबित होगा। इंटरनेट का उपयोग करने वाले लगभग सभी लोग ईमेल के बारे में बेसिक जानकारी रखते हैं।यदि आपको यह आर्टिकल E-mail क्या है? पसंद आया और कुछ सीखने को मिला हो तो इसे दोस्तों के साथ शेयर करें।

About Team Rivn Tech

दोस्तों हम Rivn Tech Editor Team है , हमारा हर प्रयास यही रहेगा कि आपको Computer, Mobile, Latest Technology and Tips & Tricks के बारे में नवीनतम जानकारी प्रदान की जाए और नए-नए तरीकों के बारे में आपको बताया जाएगा, आपकी समस्याओं का समाधान किया जाएगा

3 thoughts on “Email क्या है – Email में क्या-क्या भेज सकते है | What is Email in Hindi”

Leave a Comment