Touch Screen क्या है? – टच स्क्रीन कितने प्रकार के होते है | Touch Screen in Hindi

5/5 - (1 vote)

हेल्लो दोस्तों आज हम Touch Screen के बारे में जानेगे। Touch Screen क्या है, Touch Screen के प्रकार, Touch Screen का इस्तेमाल कैसे करे, Touch Screen का इतिहास आदि के बारे में जानेगे। Touch Screen के बारे में जानने के लिए इस आर्टिकल को पूरा पढ़े …..

Touch Screen क्या है?
Touch Screen क्या है?

 

Touch Screen क्या है? (What is Touch Screen in Hindi) –

Touch Screen एक electronic visual display होता है जिसकी एक user अपनी उंगलियों को स्क्रीन के ऊपर टच करके control कर सकता है यानी  कि अपने काम कर सकता है। एक touchscreen user को system के साथ ज्यादा direct रूप से interaction करने के लिए मौका देते हैं किसी mouse के साथ तुलना में। Touch Screen का इस्तेमाल अब इतना Common हो गया है tablet computers, smart phone और दुसरे mobile devices में की अब manufacturers ज्यादा से ज्यादा devices में Touch Screen का ही इस्तेमाल कर सकते हैं। regular screen यह बदले। 

जहां हम पहले Traditional input devices के तोर पर computer system में Keyboard और mouse का इस्तेमाल करते हैं  वही कुछ वर्षों से हम इसे Touch Screen technology  का इस्तेमाल बड़े पैमाने में कर रहे हैंcomputer या mobile system के साथ interact करने के लिए। इसके साथ अभी regular laptop और desktop computer में Touch Screen Displays के साथ traditional input device का भी इस्तेमाल करने की सुविधा प्रदान कर रहे हैं जिससे यूजर के पास ज्यादा options मौजूद हो इस्तेमाल करने के लिए।

Touch Screen का इस्तेमाल हम बहुत से variety के device में करते हैं जैसे कि computer, laptop, Monitors, smartphones, tablets,cash registers, और information kiosks में। कुछ Touch Screen में तो touch-sensitive input के बदल में infrared beams की grid का भी इस्तेमाल होता है उंगली के presence को महसूस करने के लिए

 

Touch Screen kitne prakar ke hote hai – टच स्क्रीन कितने प्रकार के होते है?

  • प्रतिरोधी टच स्क्रीन (Resistive Touch Screen)   
  • संधारित्र टच स्क्रीन (Capacitive Touch Screen)
  • अवरक्त टच स्क्रीन (Infrared Touch Screen)
  • सतह लहर टच स्क्रीन (Surface Wave Touch Screen)
Touch Screen kitne prakar ke hote hai
Touch Screen kitne prakar ke hote hai

 

प्रतिरोधी टच स्क्रीन (Resistive Touch Screen) –

प्रतिरोधी टच स्क्रीन एक Transparent Keyboard की तरह होता है इस प्रकार के टच स्क्रीन में एक Flexible upper layer होता है जो कि Conducting Glass बनी है इन दोनों के बीच में खाली स्थान होता है।                  

जब इस स्क्रीन को Press किया जाता है तो यह एक Voltage pass करता है और जिस जगह तक किया जाता है उस जगह पहुंच कर टच को process करता है। आधुनिक समय में touch screen बहुत अधिक इस्तेमाल किए जाते हैं Supermarket में Electronic Signature के लिए Resistive टच स्क्रीन इस्तेमाल किया जाता है।

 

संधारित्र टच स्क्रीन (Capacitive Touch Screen) –

Capacitive Touch Screen एक Control Display होता है जो Human Finger के स्पर्श के द्वारा input लेता है क्योंकि इस प्रकार के टचस्क्रीन मानव शरीर के Electricity को महसूस करती है। 

इस प्रकार के टचस्क्रीन अंदर से Conductive generate होता है उसी के द्वारा ये टच स्क्रीन काम करती है। यदि हाथ में दस्ताने पहनकर इस प्रकार के टच स्क्रीन का इस्तेमाल करते हैं तो यह काम नहीं करता हैक्योंकि दस्ताने विद्युत के प्रति उदासीन होते हैं।

 

अवरक्त टच स्क्रीन (Infrared Touch Screen) –

अवरक्त टच स्क्रीन में Grid pattern of LED Detector Photoshell का इस्तेमाल किया जाता है LEDs से Infrared light निकलती है जो screen के सामने से निकलती है। जब स्क्रीन को टच किया जाता है तो Beam फिर रास्ते में रुकावट आती है स्क्रीन के अंदर एक माइक्रोचिप लगी होती है जो कि उन Beam की संख्या को Calculate करती है और जहां पर Beam में रूपांतर होती है उसे Process करने के लिए Controller को निर्देशक भेजते हैं। 

 

सतह लहर टच स्क्रीन (Surface Wave Touch Screen) –

सतह लहर टच स्क्रीन में Ultrasonic Wave को Touch Screen के ऊपर से गुजरता है जब स्क्रीन पर टच किया जाता है तो स्क्रीन के एक छोटे से स्थान पर Wave में बदलाव होता है। Ultrasonic Wave में इसी बदलाव के कारण वह टच किए गए Location का पता करके Controller को Processing के लिए निर्देश भेज देते हैं अन्य टच स्क्रीन की तुलना में यह बहुत Advance होता है। 

 

टच स्क्रीन कैसे काम करता है? (How Does Touch Screen Work In Hindi) –

Touch Screen के नीचे एक Electricity Conductive Layer होती है। जब Display को Touch किया जाता है तो नीचे Electric Current में बदलाव आता है जिससे पता चलता है कि टच किसी जगह पर किया गया है। टच स्क्रीन के काम करने में तीन महत्वपूर्ण घटक होते हैं जो निम्न है –

  • Touch Sensor
  • Controller
  • Software Driver

Touch Sensor (टच सेंसर) –

सेंसर में Electricity प्रवाहित होती है रहती है,  जब भी Screen को Touch किया जाता है तो Electricity में हलचल होती है जिसके कारण पता चलता है कि टच किस Location पर किया गया है।

Controller (नियंत्रक) –

Controller टच सेंसर और कंप्यूटर या मोबाइल के बीच में लगा रहता है। यह सेंसर से Information लेता है और कंप्यूटर या मोबाइल को समझाने के लिए इसका Translate करता है।

Software Driver (सॉफ्टवेयर ड्राइवर) –

Software Driver की मदद से ही कंप्यूटर और टच स्क्रीन एक साथ काम करते है। Software Driver नियंत्रक द्वारा भेजे गए Touch Event की जानकारी को Operating System को भेजता है।

 

Touch Screen का इस्तेमाल कैसे करें? (How to use Touch screen) –

TOP –

अगर आप Single touch यह स्क्रीन के ऊपर अपने उंगलियों से touch करते हैं तो इससे स्क्रीन में object सिलेक्ट होता है या कोई apps ओपन होते हैं अगर टॉप  की तुलना traditional कंप्यूटर से होता है तो इसमें एक tab mouse क्लिक करने के जैसा होता है। 

Double Tap –

Double tap का इस्तेमाल बहुत अलग अलग तरह के कार्यों में होता है उदाहरण के लिए आप Double tap का उपयोग text editor मैं करते हैं तो जिस text को आप सिलेक्ट करते हैं वह highlight हो जाता है इसके साथ ही d double tap का उपयोग प्रोग्राम को open करने में होता है वेब ब्राउजर open करके double tap करने पर स्क्रीन को जूम कर सकते हैंऔर किसी फोटो के ऊपर double tap करने से zoom in और zoom out कर सकते हैं।

Touch and Hold

अपने उंगलियों की सहायता से टच स्क्रीन पर press करके hold करने से object सिलेक्ट होता है Pressing और Holding के जरिए आप किसी object को स्क्रीन के दूसरे लोकेशन में move कर सकते हैं इसके लिए स्क्रीन में icon को टच करके hold करना  होता है उस icon को स्क्रीन के सही स्थान move करना पड़ता है।

Swipe –

इसमें उंगलियों से स्क्रीन के ऊपर swipe करना होता है जो pages को स्क्रोल या chang करता है अगर कोई वेबपेज या डॉक्यूमेंट को तुरंत ऊपर या नीचे करता है तो स्क्रोल या स्वीप करके आप ऐसा कर सकते हैं।

Drag –

किसी फाइल या डॉक्यूमेंट को स्क्रीन में move करने के लिए Drag बहुत उपयोगी होता है आपको movable object को press करना है और hold करके उस फाइल या डॉक्यूमेंट को move करके दूसरे लोकेशन में रीलीट कर देता है।   

Pinch –

इसके जरिए आप स्क्रीन में zoom in और zoom out कर सकते हैं pink का इस्तेमाल कर आप स्क्रीन में अपनी उंगलियों से किसी भी object को zoom in और zoom out कर सकते हैं। जैसे- किसी फोटो पर दोनों सिंगर एक साथ स्क्रीन के ऊपर रखकर pinch करने से फोटो को बड़ा और छोटा साइज कर सकते हैं।

 

Touch Screen का इतिहास (History of Touch Screen in Hindi) –

Touch Screenके इतिहास की बात करें तब इसके विषय में सबसे पहला idea E.A  Johnson आया जो कि उस समय Royal Radar Establishment, Malvern,UK में काम करते थे late 1960s मैं जानकारी  का मानना है कि पहली touch screen capacitive type की थी जिससे कि हम अभी अपने Smartphone इस्तेमाल करते हैं।  

एक बात जो भूतों को पता नहीं है वह यह कि पहली resistive touch screen को सन 1975 में Samuel Hurst के द्वारा develop तो कर लिया गया था लेकिन उस सन 1982 तक नहीं दुनिया के सामने produce आ गया और न ही इस्तेमाल की किया गया ।

Resistive touch screen को आप अपनी गलियों से स्पर्श नहीं कर सकते,ऐसा करने पर स्क्रीन resist यानी प्रतिरोध करता है स्क्रीन को touch करने के लिए आपको किसी stylus या इलेक्ट्रिक पेन की आवश्यकता पड़ती है। वही,ठीक इसके विपरीत, capacitive टच स्क्रीन को उंगलियों से नियंत्रित करने के लिए डिजाइन किया जाता है इसमें किसी electrical pen की जरूरत नहीं होती है अधिकतर इस प्रकार के टच स्क्रीन tablets और स्मार्टफोन में लगे होते हैं। 

 

इन्हें भी पढ़े –    

 

 

निष्कर्ष (Conclusion) –

आज हमने Touch Screen क्या है? के बारे में जाना। एक Touch screen user को system के साथ ज्यादा direct रूप से interaction करने के लिए मौका देते हैं  किसी mouse के साथ तुलना में।अगर यह आर्टिकल आपको अच्छा लगा तो यह आर्टिकल आप अपने दोस्तों को share करे। ऐसी टेकनोलोजी आर्टिकल को पढने के लिए हमारी Site RivnTech के साथ जरुर जुड़े। धन्यवाद !  

 

FAQ – Touch Screen in Hindi

 

Q.1 टच स्क्रीन का अविष्कार किसने किया?

Ans. Doctor Gorge Samual Hurst ने 1975 में पहली Resistive Touch Screen (प्रतिरोधी टच स्क्रीन) का अविष्कार किया था।

Q.2 टच स्क्रीन के प्रकार कौनसे है?

Ans. टच स्क्रीन के प्रकार निम्नलिखित है –
प्रतिरोधी टच स्क्रीन (Resistive Touch Screen)
संधारित्र टच स्क्रीन (Capacitive Touch Screen)
अवरक्त टच स्क्रीन (Infrared Touch Screen)
सतह लहर टच स्क्रीन (Surface Wave Touch Screen)

Q.3 टच स्क्रीन कौन सा डिवाइस है, इनपुट या आउटपुट?

Ans. टच स्क्रीन एक इनपुट डिवाइस है।

Q.4 टच इनपुट को पहचानने वाली स्क्रीन को क्या कहते है?

Ans. टच इनपुट को पहचानने वाली स्क्रीन को टच स्क्रीन कहते हैं।

Q.5 मोबाइल में कौनसे टच स्क्रीन का इस्तेमाल होता है?

Ans. मोबाइल में Capacitive Touch Screen (संधारित्र टच स्क्रीन) का इस्तेमाल होता है।

About Team Rivn Tech

दोस्तों हम Rivn Tech Editor Team है , हमारा हर प्रयास यही रहेगा कि आपको Computer, Mobile, Latest Technology and Tips & Tricks के बारे में नवीनतम जानकारी प्रदान की जाए और नए-नए तरीकों के बारे में आपको बताया जाएगा, आपकी समस्याओं का समाधान किया जाएगा

Leave a Comment